फोटो साभारः Pixabay

Eatery Charges Rs 10 Extra For Ice Cream: ग्राहक फोरम में रेस्त्रां की ओर से कहा गया है कि उन्होंने एमआरपी पर 10 रुपये एक्स्ट्रा चार्ज आइसक्रीम को स्टोर करने के लिए वसूला है. लेकिन रेस्त्रां को फोरस ने फटकार लगाई है.

मुंबई. आजकल रेस्त्रां वाले पैकेज, डिलिवरी और न जाने किन-किन बहानों से एक्स्ट्रा चार्ज लगा देते हैं. लेकिन मुंबई के एक रेस्त्रां को महज 10 रुपये एक्सट्रा वसूलना महंगा पड़ गया. दरअसल, मुंबई सेंट्रल (Mumbai Central) स्थित शगुन वेज रेस्त्रां (Shagun Veg Restaurant) को 6 साल पहले एक आइसक्रीम के पैकेट पर 10 रुपये ज्यादा वसूलने पर जिला फोरम (District Forum) ने उन पर 2 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है.

सिर्फ इतना ही नहीं जिला फोरम ने ग्राहक को भी मुआवजा देने के लिए कहा है. गुरुवार को फोरम ने अपने आदेश में कहा कि रेस्त्रां 24 सालों से हर रोज करीब 40 से 50 हजार रुपये कमा रहा है. ऐसे में साफ है कि उन्होंने एमआरपी से अधिक चार्ज करके लाभ कमाया है. जिला फोरम ने 2 लाख रुपये अतिरिक्त जमा करने का आदेश देते हुए कहा कि रेस्त्रां और दुकानों की ओर से इस तरह से धोखाधड़ी और बेईमानी करके कारोबार करना उचित नहीं है.

आखिरकार क्या है पूरा मामला?
टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक 6 साल पहले रेस्त्रां ने पुलिस सब इंस्पेक्टर भास्कर जाधव से आइसक्रीम के एक फैमिली पैक के लिए 165 रुपये की जगह 175 रुपये चार्ज किया था. इसके बाद सब इंस्पेक्टर ने 2015 में दक्षिण मुंबई जिला उपभोक्ता विवाद निवारण फोरम में शिकायत दर्ज करवाई. उन्होंने अपनी शिकायत में कहा, ‘वह eight जून 2014 की रात को डीबी मार्ग पुलिस स्टेशन से घर जा रहे थे. इस दौरान वह रेस्त्रां में रुके और परिवार के लिए आइसक्रीम खरीदी.’ जाधव ने बताया कि उन्हें एक ही कीमत में 2 फैमिली पैक मिले हैं, लेकिन 10 रुपये अतिरिक्त चार्ज देखकर वह चौंक गए.फोरम में अपना पक्ष रखते हुए जाधव ने कहा, 10 रुपये एक्स्ट्रा चार्ज करने मुद्दे पर मैंने रेस्त्रां में विरोध किया, लेकिन वहां किसी ने उनकी बात नहीं सुनी. उन्होंने कहा कि उन्होंने काउंटर से आइसक्रीम खरीदी थी और रेस्त्रां में इंट्री भी नहीं की थी.

स्टोर करने के वसूले 10 रुपये
वहीं, फोरम में अपना पक्ष रखते हुए रेस्त्रां की तरफ से कहा गया है कि उन्होंने आइसक्रीम को स्टोर करने के लिए 10 रुपये अधिक कीमत वसूली गई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *