पिछले साल आई हिट फिल्म ”छिछोरे में श्रद्धा कपूर’ दिवंगत एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के साथ नजर आई थी. श्रद्धा को सुशांत पहले अजीब लगे, ज्यादा बात नहीं करते थे, काम से काम रखते थे. लेकिन जल्द ही सुशांत की एनर्जी की वे कायल हो गईं. श्रद्धा खुद चैटर बॉक्स है और हमेशा बोलती और चहकती रहती है. उनको बस यह लग रहा था कि सेट पर दोस्ती सबसे हो गई, सिवाय सुशांत के.

सुशांत किसी के साथ भी खुलने में समय लेते थे. पर जब एक बार जब श्रद्धा से दोस्ती हो गई तो उससे अपने सारे राज शेयर करने लगे.

चलता फिरता गूगल

सुशांत बहुत नॉलेजेबल थे, यह तो सबको पता है. जिस बात से श्रद्धा प्रभावित हुईं, वो थी उनकी मासूमियत. जहां इंडस्ट्री के ज्यादातर नायक बड़ी गाड़ी, महंगी घड़ियां, फॉरेन वेकेशंस की बात करते थे, वहां सुशांत ऑर्गेनिक खेती, क्वांटम फीक्जिक्स और बच्चों की पढ़ाई पर लंबी-लंबी बहस करते थे. फिल्मों की भी उनको गजब का नॉलेज थी. 

किस बात पर रो पड़ी थीं श्रद्धा?

मुंबई से दूर लोनावला के पास पवना लेक के सामने सुशांत से एक बंगला और फॉर्म हाउस किराए पर लिया था. वे अकसर अपने दोस्तों के साथ छुट्टी बिताने यहां आते थे. सुशांत ने छिछोरे की टीम के दोस्तों को भी यहां इनवाइट किया. दिन भर बोटिंग, फिशिंग और पार्टी करने के बाद रात को सुशांत जिद करके श्रद्धा को बाहर ले गये. अंधेरी रात में सुशांत अपना टेलिस्कोप लेकर निकले और श्रद्धा से बोले कि चलो मैं तुम्हें अपना नया घर दिखाता हूं.

श्रद्धा चौंक गई. सुशांत ने चांद की तरफ इशारा करके बताया कि उसने वहां एक प्लॉट खरीदा है. श्रद्धा को उसी दिन इस बात का पता चला कि सुशांत ने चांद पर इन्वेस्टमेंट कर रखा है.

सुशांत ने श्रद्धा से अपने सपनों का जिक्र किया. बताया कि वो जल्द ही एक्टिंग छोड़ कर ऑर्गेनिक खेती करना चाहते हैं. श्रद्धा ने उन्हें समझाया कि इस वक्त जब वे टॉप पर हैं तो उन्हें एक्टिंग छोड़ने की नहीं सोचनी चाहिए.

सुशांत ने उसी समय बातों बातों में उनसे कहा कि वो उन्हें अपनी मां से मिलवाना चाहते हैं. सुशांत ने टेलिस्कोप से उन्हें एक तारा दिखाया. सुशांत की आंखें उस समय नम थीं. सुुशांत की मां जब वो टीनएज में थे, गुजर गई थीं और सुशांत उन्हें बहुत मिस करते थे। उनके भोलेपन और भावुकता पर श्रद्धा रोने लगी. श्रद्धा मानती हैं कि इंडस्ट्री में रह कर भी सुशांत बहुत अलग और असली थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *