नई दिल्लीः कंगना रनौत (Kangana Ranaut) बॉलीवुड में फैली बुराइयों के खिलाफ बोलती रही हैं. वह बॉलीवुड में ड्रग्स सेवन और भाई-भतीजावाद पर बेबाकी से अपनी बात कहती रही हैं. उनके बेबाक बयानों की वजह से मुस्लिम समुदाय के दो लोगों ने बांद्रा कोर्ट (Bandra Court) में एक याचिका दायर की थी.

सांप्रदायिकता को बढ़ाने का लगाया आरोप 
इस याचिका में कंगना रनौत पर अपने ट्वीट के जरिए दो समुदायों के बीच नफरत को बढ़ाने का आरोप लगाया गया है. याचिका में उन्होंने कंगना पर सांप्रदायिकता को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है. मुंबई की बांद्रा कोर्ट ने इस याचिका पर बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का निर्देश दिया है.  

याचिकाकर्ताओं के मुताबिक, बांद्रा पुलिस स्टेशन ने कंगना के खिलाफ उनके आरोपों पर संज्ञान लेने से मना कर दिया था, जिसके बाद उन्होंने मामले में जांच के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. कोर्ट ने कंगना रनौत के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए हैं.

गिरफ्तार हो सकती हैं कंगना
याचिकाकर्ताओं ने  कोर्ट के समक्ष कंगना के काफी सारे ट्वीट भी रखे थे. उनके मुताबिक, सीआरपीसी की धारा 156 (3) के तहत कंगना के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जा सकती है. एफआईआर के बाद कंगना से पूछताछ होगी और अगर कंगना के खिलाफ पुख्ता सबूत मिलते हैं कि उनकी गिरफ्तारी भी हो सकती है.

आपको बता दें कि इससे पहले कर्नाटक के तुमकुरु जिले में अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. कंगना के खिलाफ उनके एक ट्वीट को लेकर शुक्रवार को एक अदालत ने एफआईआर दर्ज करने का निर्देश दिया था.

एंटरटेनमेंट की और खबरें पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *